Tutustu kiinnostaviin ideoihin!

AMARANTH  Amaranth dünyada baş gösteren açlık problemine karşı tarım bilimcilerinin üzerinde çok sık durmaya başladığı bitkilerden birisidir. Henüz çok yaygın bir tarımı söz konusu değildir. Ancak bazı sorunları halledildikten sonra tarım alanlarında hızla yayılacağı sanılmaktadır. Ülkemizde ise henüz tür ve çeşit adaptasyonlarının yapılma aşamasındadır.

AMARANTH Amaranth dünyada baş gösteren açlık problemine karşı tarım bilimcilerinin üzerinde çok sık durmaya başladığı bitkilerden birisidir. Henüz çok yaygın bir tarımı söz konusu değildir. Ancak bazı sorunları halledildikten sonra tarım alanlarında hızla yayılacağı sanılmaktadır. Ülkemizde ise henüz tür ve çeşit adaptasyonlarının yapılma aşamasındadır.

KİNOA BİTKİSİ, KIRŞEHİR TÜRKİYE

KİNOA BİTKİSİ, KIRŞEHİR TÜRKİYE

AMRANT

AMRANT

AMARANT

AMARANT

CAMELİNA SATİVA (KETENCİK)KURAK VE MARJİNAL TARIMSAL ALANLARIN DEĞERLENDİRİLMESİNDE EN UYGUN YAĞ BİTKİSİ...  Brassicaceae familyasına ait olan ketencik bitkisinin; C.sativa, C. laxa, C. rumelica, C. microcarpa, C.hispida ve C. anomala türleri yaygın olarak bilinmektedir. Bu türler içerisinde ekonomik önemi olan tek tür Camelina sativa’dır. Yazlık ve tek yıllık bir yağ bitkisi olan Ketencik (Camelina sativa (L.) Crantz)

CAMELİNA SATİVA (KETENCİK)KURAK VE MARJİNAL TARIMSAL ALANLARIN DEĞERLENDİRİLMESİNDE EN UYGUN YAĞ BİTKİSİ... Brassicaceae familyasına ait olan ketencik bitkisinin; C.sativa, C. laxa, C. rumelica, C. microcarpa, C.hispida ve C. anomala türleri yaygın olarak bilinmektedir. Bu türler içerisinde ekonomik önemi olan tek tür Camelina sativa’dır. Yazlık ve tek yıllık bir yağ bitkisi olan Ketencik (Camelina sativa (L.) Crantz)

आपदा लाता है अतीश का पौधा! http://uttarakhandpravasi.com/ उत्तताखंड पिछले सालों से आपदा की चपेट में है. कुदरत के इस कहर का पूर्वानुमान न होने के कारण हर साल कई जिंदगियां काल के गाल समा रही हैं. किन्तु हाल में एक नए शोध में कुदरत के कहर के पूर्वानुमान वाले स्थानों की पहचान करना आसान हो गया है. वाडिया इंस्टीट्यूट ऑफ हिमालयन जियोलॉजी के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. पीएस नेगी के शोध में यह बात सामने आई है कि जिस स्थान पर अतीश का पौधा उगता है, उसी क्षेत्र में कुदरत कहर बरपाता है.

आपदा लाता है अतीश का पौधा! http://uttarakhandpravasi.com/ उत्तताखंड पिछले सालों से आपदा की चपेट में है. कुदरत के इस कहर का पूर्वानुमान न होने के कारण हर साल कई जिंदगियां काल के गाल समा रही हैं. किन्तु हाल में एक नए शोध में कुदरत के कहर के पूर्वानुमान वाले स्थानों की पहचान करना आसान हो गया है. वाडिया इंस्टीट्यूट ऑफ हिमालयन जियोलॉजी के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. पीएस नेगी के शोध में यह बात सामने आई है कि जिस स्थान पर अतीश का पौधा उगता है, उसी क्षेत्र में कुदरत कहर बरपाता है.

Flowering Tobacco (Nicotiana tabacum).

Flowering Tobacco (Nicotiana tabacum).

अब नहीं दिखती कहीं ‘कोणी’ . http://uttarakhandpravasi.com पहाड़ों की खेतों में झंगोरा की फसल के साथ उगाई जाने वाली कोणी अब नहीं दिखती. कोणी पहाड़ की बासमती के बाद सबसे स्वादिस्ट और पोषक तत्वों का खजाना मानी जाती थी. कोणी आसानी से कहीं भी अन्य फसलों के साथ उगाई जा सकती है. ये झंगोरा और नाज-साटी (धान) के साथ-साथ बोई जाती है और सबसे पहले पक कर तैयार हो जाती है. कोणी का भात और ‘बुखणा’ बनाकर खाया जाता है.

अब नहीं दिखती कहीं ‘कोणी’ . http://uttarakhandpravasi.com पहाड़ों की खेतों में झंगोरा की फसल के साथ उगाई जाने वाली कोणी अब नहीं दिखती. कोणी पहाड़ की बासमती के बाद सबसे स्वादिस्ट और पोषक तत्वों का खजाना मानी जाती थी. कोणी आसानी से कहीं भी अन्य फसलों के साथ उगाई जा सकती है. ये झंगोरा और नाज-साटी (धान) के साथ-साथ बोई जाती है और सबसे पहले पक कर तैयार हो जाती है. कोणी का भात और ‘बुखणा’ बनाकर खाया जाता है.

Visit to Uttarakhandpravasi.com  Free Membership | Chat | Make Group | Update Events #UttarakhandLife #Tourism #culture #Villages n may more...

Visit to Uttarakhandpravasi.com Free Membership | Chat | Make Group | Update Events #UttarakhandLife #Tourism #culture #Villages n may more...

पवित्र देवभूमि पौराणिक है, नाम है उत्तराखंड, "उत्तरापथ" और "केदारखण्ड" मिलकर बना उत्तराखंड कितनी सुन्दर देव-भूमि, देखूं उड़कर आकाश से, नदी पर्वतों को निहारूं, जाकर बिल्कुल पास से. जन्मभूमि है हमारी, हैं हमारे कैसे भाग, कहती है उत्तराखंडियों को, शैल पुत्रों जाग.  जगमोहन सिंह जयाड़ा uttarakhandpravasi.com  #uttarakhand

पवित्र देवभूमि पौराणिक है, नाम है उत्तराखंड, "उत्तरापथ" और "केदारखण्ड" मिलकर बना उत्तराखंड कितनी सुन्दर देव-भूमि, देखूं उड़कर आकाश से, नदी पर्वतों को निहारूं, जाकर बिल्कुल पास से. जन्मभूमि है हमारी, हैं हमारे कैसे भाग, कहती है उत्तराखंडियों को, शैल पुत्रों जाग. जगमोहन सिंह जयाड़ा uttarakhandpravasi.com #uttarakhand

Pinterest
Haku